छत्तीसगढ़राजनीति

जिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव में कृषि मंत्री हुए शामिल

Advertisement

बच्चों के भविष्य निर्माण में अभिभावकों की भूमिका महत्वपूर्ण: मंत्री श्री रामविचार नेताम



बलरामपुर ।  जिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव कार्यक्रम आदिम जाति कल्याण व कृषि विभाग के मंत्री श्री रामविचार नेताम के मुख्य आतिथ्य तथा सामरी विधायक श्रीमती उधेश्वरी पैकरा के विशिष्ट आथित्य में स्वामी आत्मानन्द उत्कृष्ट हिंदी माध्यम विद्यालय बलरामपुर में किया गया। कार्यक्रम में अतिथियों द्वारा नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं को तिलक लगाकर, मिठाई खिलाकर तथा निःशुल्क पाठ्यपुस्तक, स्कूल बैग एवं गणवेश प्रदान कर शाला प्रवेश कराया गया। साथ ही कक्षा 9वीं में प्रवेशित छात्राओं को सरस्वती सायकल योजनान्तर्गत सायकल प्रदान किया गया।

इसी प्रकार 10वीं एवं 12वीं कक्षा के राज्य स्तरीय टॉपर छात्र-छात्राओं को लैपटॉप तथा जिला स्तर पर 10वीं एवं 12वीं में टॉप करने वाले छात्र-छात्राओं को मेडल एवं पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया।
जिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव कार्यक्रम में आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति विकास, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक विकास, कृषि विकास एवं किसान कल्याण विभाग मंत्री श्री रामविचार नेताम ने अपने उद्बोधन में कहा कि यह एक ऐतिहासिक क्षण है, जिसमें नवप्रवेशी स्कूली बच्चे, अभिभावक तथा जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में शाला प्रवेश उत्सव मनाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि शासन के निर्देशानुसार विगत 26 जून 2024 से ही शाला प्रारंभ हो चुकी हैं, तथा संकुल स्तर पर शाला प्रवेश उत्सव भी प्रारंभ है। श्री नेताम ने कहा कि पहले बच्चे स्कूल जाने से डरते थे, परन्तु अब स्कूलों को आकर्षक एवं सर्वसुविधायुक्त बनाया गया है तथा गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त हो रहा है, जिसके कारण अब बच्चे स्वयं से स्कूल आना प्रारंभ कर दिये हैं।

मंत्री श्री नेताम ने अभिभावकों को भी संबोधित करते हुए कहा कि बच्चों के भविष्य निर्माण में अभिभावकों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है, इसलिए आप सभी अपने बच्चों के अच्छे भविष्य के लिए उन्हें अच्छे से पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करें। इस दौरान उन्होंने शैक्षणिक वर्ष 2023-24 में मेरिट सूची में आने वाले छात्र-छात्राओं को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आप सभी देश के भविष्य हैं और उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए अपने जिले का नाम रौशन करें, साथ ही उन्होंने सभी बच्चों को मन लगाकर पढ़ने को कहा। उन्होंने शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि बच्चों के सुनहरे भविष्य एवं अच्छे प्रदर्शन के पीछे निश्चित तौर पर आप लोगों का विशेष योगदान होता है, इसलिए आप सभी बच्चों को लगन एवं पूर्ण निष्ठा से पढ़ाएं।


सामरी विधायक श्रीमती उद्देश्वरी पैकरा ने जिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए वहां उपस्थित अभिभावकों से कहा कि वे नियमित रूप से अपने बच्चों को स्कूल भेजें। साथ ही उन्होंने जनप्रतिनिधियों से अपील किया कि ऐसे बच्चे जो प्रवेश से छुटे हुए हैं, उन समस्त बच्चों को नजदीकी विद्यालय में प्रवेश कराने की जिम्मेदारी लें।


इस दौरान कलेक्टर श्री रिमिजियुस एक्का ने जानकारी देते हुए कहा कि नये शैक्षणिक सत्र हेतु विद्यालयों, आश्रम/छात्रावासों में समस्त आवश्यक व्यवस्थाएं पूर्ण कर ली गई हैं। साथ ही बच्चों को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा प्राप्त हो, इसके लिए शिक्षकों की शत्-प्रतिशत् उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए जीपीएस के माध्यम से मॉनिटरिंग की जावेगी। साथ ही जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारियों द्वारा स्कूलों का नियमित निरीक्षण करेंगे, ताकि स्कूलों में किसी भी प्रकार की अव्यवस्था न हो।

न्योता भोज का किया गया आयोजन
शाला प्रवेश उत्सव कार्यक्रम में कार्यक्रम समाप्ति के पश्चात शिक्षा विभाग द्वारा न्योता भोज का आयोजन किया गया। न्योता भोज में प्रदेश के आदिम जाति कल्याण व कृषि विभाग के मंत्री श्री रामविचार नेताम, सामरी विधायक श्रीमती उधेश्वरी पैकरा, क्षेत्र के निर्वाचित जनप्रतिनिधि, कलेक्टर श्री रिमिजीयूस एक्का, वरिष्ठ पुलिश अधीक्षक डॉ. लाल उमेद सिंह ने जमीन पर बच्चों के साथ बैठकर न्योता भोज का आनंद लिया।

इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य श्रीमती पुष्पा नेताम, पुलिस अधीक्षक डॉ. लाल उमेद सिंह, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती रेना जमील, जनपद पंचायत सदस्य श्री भानु प्रकाश दीक्षित, गणमान्य नागरिक श्री ओमप्रकाश जायसवाल सहित जनप्रतिनिधिगण, गणमान्य नागरिक, शिक्षक, अभिभावक एवं बड़ी संख्या में स्कूली छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button